चेहरे के किल मुंहासे हटाने की घरेलू उपाय ।

आजकल चेहरे के किल मुंहासे का आना आम बात है ।ये ज्यादातर उनलोगो को होता है जिसका स्किन ऑयली है ,उन्हें ये समस्या ज्यादा होती है, तो जानते है कुछ सरल घरेलू नुस्खे जिससे आपकी समस्या का निदान हो सके..........


१. सबसे पहले अगर आपको बार  बार किल मुंहासे की समस्या होती है तो आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिए जिससे शरीर की जितनी भी अंदरुनी गंदगी है ,निकल जाए और ये समस्या रुक जाए।

२. नींबू को काटकर ,चेहरे पर जहां भी किल मुंहासे हो उस पर दिन में एक बार जरूर  लगाएं, जिससे आपके चेहरे के अतिरिक्त तेल को निकाल देता है, और आप किल मुंहासे से छुकारा पा सकते है

३. शहद किल मुहसे के लिए वरदान साबित होता है ,आप प्रभावित स्थान पर शहद को लगाए और १५ मिनट बाद उसे धो ले आप देखेंगे कि आपके किल मुंहासे  जल्द से जल्द ठीक हो जायेगा।

४. सेव का सिरका हमारे बॉडी के लिए बहुत ही लाभदायक होता है, ये हमारे शरीर को डिटॉक्स करता है जिससे किल मुंहासे में काफी फायदा होता है

तो दोस्तो आप ये कुछ सरल घरेलू नुस्खे आजमा कर अपने किल मुंहासे से मुक्ति पा सकते है , आपको ये ब्लॉग कैसा लगा , कॉमेंट जरूर करे तथा आपके सुझाओ का इंतजार रहेगा
धन्यवाद

My Healthy Tips

(Ranjeet Kumar)

दीवाली में होने वाले प्रदूषण से कैसे बचाव करें !

२८ अक्टूबर को  धूमधाम से पूरे देश में दीवाली मनाई गई
, दीवाली हो और पटाखे ना चले ऐसा हो नहीं सकता, और पटाखे से कितनी प्रदूषण फैलती है सब को पता है, इससे खासकर बच्चो और बूढों को ज्यादा परेशानी होती है, अगर किसी को अस्थमा की समस्या है तो उनके लिए और भी मुश्किल हो जाता है,तो इस समस्या से कैसे निपटें इसके बारे में बात करते है

१. अगर किसी को अस्थमा की समस्या है तो उन्हें अच्छे
मास्क पहने चाहिए जिससे उन्हें ज्यादा से ज्यादा प्रदूषण से बचाव हो|

२. दीवाली के पटाखे से सबसे ज्यादा असर हमारे त्वचा और बालों पर पड़ता है, उस नुकसान से बचने के लिए हमें नीम के पत्ते को पानी में डालकर नहाना चाहिए जिससे हमारे स्किन और बालों पर पड़ने वाले प दुष्प्रभाव को कम कर सके|

३. हल्दी में एंटी बैक्टिरियल गुण होते है, इसलिए हमें दीवाली के अगले दिन अपनी डाइट में शामिल जरूर करे, आधा चमच हल्दी में शहद मिलाकर लें जिससे प्रदूषण से होने वाले नुकसान से बचा जा सके | 

My Healthy tips

HIV AIDS, क़े बारे मे जाने!

  एचआईवी, एड्स का कारण बनता है और शरीर की संक्रमण से लड़ने की क्षमता के साथ हस्तक्षेप करता है. वायरस संक्रमित खून, वीर्य या योनि के तरल पदार...