कोरोना जैसे वायरस चीन से ही क्यो फैलते है।




 इस समय कोरोणा वायरस काफी चर्चा में है, इजैसे वायरससका मुख्य केंद्र चीन है। चीन के आलावा अठारह और भी देश इस वायरस की चपेट में है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैश्विक आपातकाल की घोषणा की है। कोरोना वायरस का अभी तक कोई भी कारगर इलाज नहीं है। इसका अभी तक कोई भी टीका उपलब्ध नहीं है। यह एक नए प्रकार की बीमारी है, जो पहली बार चीन के वुहान शहर में पाया गया है। इससे चीन में 200 से अधिक लोगों की जाने जा चुकी है, और 1000 से अधिक लोग पीड़ित है। इस वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। कई देशों की सरकार ने अपने नागरिकों को चीन ना जाने की सलाह दी है

चीन के कई शहरों में आपातकाल जैसी स्थिति है।

अब सवाल उठता है कि आखिर इस तरह के खतरनाक वायरस चीन से ही क्यो फैलते है।

ज्ञात हो कि सार्स वायरस, H1N1 और बर्डफ्लू जैसी महामारी चीन से ही फैली थी। इससे कई लोगो की जाने गई थी।

और भी कई तरह के वायरस फैले इन सबका सम्बद्ध कहीं न कहीं चीन से ही रहा है, आखिर क्या है, इसकी वजह इसके बारे में विस्तृत से जानते है।

कोरोना जैसे वायरस फैलने की वजह?

सबसे पहले कोरोना वायरस चीन के वुहान शहर के सबसे बड़ा मीट बाज़ार से फैला है। इस बाज़ार में हरेक तरह के जंगली जीवजंतु जैसे, सांप, छिपकली, सूअर, बंदर, कुत्ते और चमगादड़ इत्यादि के मांस मिलते है। चीन के लोग चमगादड़ का सूप बड़े चाव से पीते है। कोरोंना वायरस जानवरो में पाए जाने वाला एक वायरस है, जो मनुष्यो में जानवरों के मांस खाने से फैला है। चीन के लोग मांसाहारी भोजन ज़्यादा पसंद करते है, जो इस तरह के वायरस को फैलने का एक ये भी कारण हो सकता है।

कोरोणा वायरस के लक्षण क्या है

इस वायरस से संक्रमित लोगो को जुकाम, सांस लेने में समस्या, बुखार और फेफड़े सम्बंधित समस्याएँ होने लगती है।

कोरोना वायरस से बचाव के उपाय।

इस वायरस को पूरी तरह ठीक करने के लिए अभी तक किसी भी प्रकार की कोई भी दवा उपलब्ध नहीं है। लेकिन कुछ सावधानी बरती जाए तो इससे बचा जा सकता है, जैसे साबुन से हाथ को धोना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना, मास्क पहन कर रहना और संक्रमित व्यक्ति से दूर रहना इत्यादि शामिल है। 

कोरोना जैसे वायरस चीन से ही क्यो फैलते है।

 इस समय कोरोणा वायरस काफी चर्चा में है, इजैसे वायरससका मुख्य केंद्र चीन है। चीन के आलावा अठारह और भी देश इस वायरस की चपेट में है। विश्...